गुरुवार, 25 मार्च 2010

जल बिन मछली ......!

यह तो विश्व जल दिवस मना रहे हैं!

"चारों ऊँगलियाँ घी में, सर कड़ाही में " यानी नरेगा!

"डर के आगे जीत हैं" और पीछे?

प्लीज नो मोर ....

...क्या घर में भी यही हालत है?